Web 2.0 क्या हैं? वेब 2.0 के फ़ीचर्स क्या हैं?

Web 2.0 क्या हैं? वेब 2.0 के फ़ीचर्स क्या हैं?

Web 2.0 क्या हैं? वेब 2.0 के फ़ीचर्स क्या हैं?


कैसे है आप सब? Web 2.0 क्या हैं? ये वो लोग ज्यादा ढूंढते है जिन्हें Websites और ब्लॉग्स के बारे में पता होता हैं, या वो Blogging करते हैं। तो इस पोस्ट में आपको Web 2.0 क्या हैं? Web 2.0 के फ़ीचर्स क्या हैं? इसके बारे में जानने वाले हैं।

 

आप यह सोच रहे होंगे कि यह Web 2.0 Kya Hai? तो इसका पिछला वर्जन Web 1.0 के बारे में जान लेते हैं शार्ट में। ताकि आप Web 2.0 Explanation के बारे में ज्यादा अच्छी तरह से समझ सके।

What is Web 1.0 in Hindi

अगर शार्ट में वेब 1.0 के बारे में जाने तो यह एक ऐसा वेबसाइट होता है जिस पर केवल उसका मालिक ही उस पर कुछ भी पब्लिस कर सकता हैं।

 

अगर हम पहले समय मे आयी Websites के बारे में बात करे तो वो Web 1.0 थे, जो बिल्कुल साधारण से थे जहां न तो आप कमेंट कर सकते थे और ना ही उस वेबसाइट पर कुछ कर सकते हैं।

 

ये वेबसाइट्स आज भी है जैसे कि Songs Downloading वेबसाइट्स जहां से ककप केवल Data को रीड कर सकते है वहा आप न तो कुछ पोस्ट कर सकते हैं और न ही कुछ बदल सकते है। वहज वेब 2.0 के वेबसाइट्स में आप उस पर खुद से पोस्ट भी कर सकते हैं और चंगेज़ भी कर सकते हैं।


Web 2.0 क्या हैं? (What is Web 2.0 in Hindi)


Web 2.0 क्या हैं? वेब 2.0 के फ़ीचर्स क्या हैं?
I think कई लोग ऊपर में बताई गई बातों से ही समझ गए होंगे पर भी चलिए इसको डिटेल में जानते हैं। अगर आप एक ब्लॉगर है तो आपको Backlinks के बारे में जरूर ही पता होगा जो कि किसी भी वेबसाइट के लिए और Search Engine में रैंक करने के बेहद ही जरूरी होता हैं।

 

खासकर Google Search में आने के लिए Web 2.0 Backlinks की बहुत मान्यता बढ़ चुकी हैं। क्योंकि इन बैकलिंक्स की DA (Domain Authority) PA (Page Authority) बहुत ज्यादा होती हैं, यही वह वजह है जिसकी वजह से आजकल लोग बैकलिंक बिल्ड करते समय वेब 2.0 बैकलिंक्स की तरफ ज्यादा ध्यान देते है।

 

वही इस तरह के बैकलिंक्स का फायदा भी बहुत होता है और ये Google में रैंक करने के लिए आपके वेबसाइट को मदद करता है। तो आखिर यह काम किस तरह से करता हैं? तो आपको बता दे कि वेब 2.0 वाले वेबसाइट पर आप अपने कंटेंट को शेयर कर सकते है।

 

यानी कि आप अपने वेबसाइट के Niche के अनुसार इन वेबसाइट पर कंटेंट लिख कर पोस्ट कर सकते हैं। जैसे अगर आपका वेबसाइट अगर टेक केटेगरी से है तो आप टेक से जुड़े आर्टिकल को लिख कर इन वेबसाइट्स पर पोस्ट करके High Quality के बैकलिंक्स को पा सकते हैं।

 

साथ ही आपको इन वेबसाइट्स से फ्री ट्रैफिक भी मिल जाता हैं, जिस से आपको दो तरह के फायदे हो जाते हैं। साथ ही आपके इस बैकलिंक की क्वालिटी भी सबमिट किये गए वेबसाइट के DA PA पर निर्भर करता हैं। चलिए अब इसके सभी तरह के फ़ीचर्स और उन कुछ वेबसाइट्स के बारे में जान लेते हैं।

Read this post on Hindi Techno Guru



About author
Posted by : Deepak Singh

I'm Founder of hindiTechnoguru.com